Shayari SMS

Deshbhakti Shayari

Dil Mein Junoon Aankhon Me Deshabhakti Ki Chamak Rakhta Hun

Dil Mein Junoon Aankhon Me Deshabhakti Ki Chamak Rakhta Hun,
Dushman Ki Jaan Nikal Jaye Aabaz Itni Dam Rakhta Hun.

दिल में जूनून आँखों में देशभक्ति की चमक रखता हूँ,
दुश्मन की जान निकल जाए आबाज़ इतनी दम रखता हूँ।

Deshbhakti Shayari

Kar Hausale Buland Jabaan, Tere Peechhe Hai Avaam

Kar Hausale Buland Jabaan, Tere Peechhe Hai Avaam,
Dushmano Ko Maar Giraenge, Jo Hamse Desh Batbayenge.

कर हौसले बुलंद जबान, तेरे पीछे है अवाम,
दुश्मनो को मार गिराएंगे, जो हमसे देश बटबायेंगे।

Deshbhakti Shayari

Amanparast Desh Hai Mera, Is Desh Me Danga

Amanparast Desh Hai Mera, Is Desh Me Danga Rahne Do,
Laal Hare Me Mat Baanto, Mere Desh Me Tiranga Rahne Do.

अमन परस्त देश है मेरा, इस देश में दंगा रहने दो,
लाल हरे में मत बांटो, मेरे देश में तिरंगा रहने दो।

Deshbhakti Shayari

Hawa Dukhon Ki Jab Aai Kabhi Khizaan Ki Tarah

Hawa Dukhon Ki Jab Aai Kabhi Khizaan Ki Tarah,
Mujhe Chhupa Liya Mitti Ne Meri Maa Ki Tarah.

हवा दुखों की जब आई कभी ख़िज़ाँ की तरह,
मुझे छुपा लिया मिट्टी ने मेरी माँ की तरह।

Deshbhakti Shayari

Bharatmata Ke Liye Mar Mitna Kabool Hai Mujhe

Bharatmata Ke Liye Mar Mitna Kabool Hai Mujhe,
Akhand Bharat Banane Ka… Junoon Hai Mujhe.

भारतमाता के लिए मर मिटना कबूल है मुझे,
अखंड भारत बनाने का… जूनून है मुझे।

Deshbhakti Shayari

Yahin Rahunga Kahin Umr Bhar Na Jaunga

Yahin Rahunga Kahin Umr Bhar Na Jaunga,
Zameen Maa Hai Ise Chhod Kar Na Jaunga.

यहीं रहूँगा कहीं उम्र भर न जाउँगा,
ज़मीन माँ है इसे छोड़ कर न जाऊँगा।

Deshbhakti Shayari

Khushnaseeb Hain Vo Jo Desh Par Mit Jaate Hain

Khushnaseeb Hain Vo Jo Desh Par Mit Jaate Hain,
Markar Bhi Vo Log Amar Ho Jaate Hain,
Karta Hun Unhen Salam, Vatan Pe Mitane Walo,
Tumhari Har Saans Me Desh Ka Naseeb Basta Hai.

खुशनसीब हैं वो जो देश पर मिट जाते हैं,
मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं,
करता हूँ उन्हें सलाम वतन पे मिटने वालों,
तुम्हारी हर साँस में देश का नसीब बसता है।