Shayari SMS

Judaai Shayari

ऐ चाँद चला जा क्यूँ आया है…

ऐ चाँद चला जा
क्यूँ आया है तू मेरी चौखट पर,
छोड़ गया वो शख्स
जिस के धोखे मे तुझे देखते थे ।

Judaai Shayari

हर मुलाक़ात पर वक़्त का…

हर मुलाक़ात पर वक़्त का तकाज़ा हुआ,
हर याद पर दिल का दर्द ताज़ा हुआ ।

सुनी थी सिर्फ लोगों से जुदाई की बातें,
खुद पर बीती तो हक़ीक़त का अंदाज़ा हुआ ।

Judaai Shayari

सजदों में सिसकता देखो…

आओ किसी शब मुझे टूट के बिखरता देखो,
मेरी रगों में ज़हर जुदाई का उतरता देखो,
किस किस अदा से तुझे माँगा है खुदा से,
आओ कभी मुझे सजदों में सिसकता देखो।