Shayari SMS

Dosti Shayari

हम वो फूल हैं…

हम वो फूल हैं जो रोज़ रोज़ नहीं खिलते,
यह वो होंठ हैं जो कभी नहीं सिलते,
हम से बिछड़ोगे तो एहसास होगा तुम्हें,
हम वो दोस्त हैं जो रोज़ रोज़ नहीं मिलते।

Dosti Shayari

सबसे अलग सबसे न्यारे…

सबसे अलग सबसे न्यारे हो आप,
तारीफ कभी पुरी ना हो इतने प्यारे हो आप।

आज पता चला जमाना क्यों जलता है हमसे,
क्यों कि दोस्त तो आखिर हमारे हो आप।

Dosti Shayari

लोग कहते हैं ज़मीं पर…

लोग कहते हैं ज़मीं पर किसी को खुदा नहीं मिलता,
शायद उन लोगों को दोस्त कोई तुम-सा नहीं मिलता ।

किस्मत वालों को ही मिलती है पनाह किसी के दिल में,
यूं हर शख़्स को तो जन्नत का पता नहीं मिलता ।

अपने सायें से भी ज़यादा यकीं है मुझे तुम पर,
अंधेरों में तुम तो मिल जाते हो, साया नहीं मिलता ।

इस बेवफ़ा ज़िन्दगी से शायद मुझे इतनी मोहब्बत ना होती
अगर इस ज़िंदगी में दोस्त कोई तुम जैसा नहीं मिलता ।।

Dosti Shayari

हम दोस्त बनाकर किसी को…

हम दोस्त बनाकर किसी को रुलाते नही,
दिल में बसाकर किसी को भुलाते नही,
हम तो दोस्त के लिए जान भी दे सकते हैं,
पर लोग सोचते हैं की हम दोस्ती निभाते नहीं।

Dosti Shayari

इश्क़ और दोस्ती मेरी…

इश्क़ और दोस्ती मेरी
ज़िन्दगी के दो जहाँ है,

इश्क़ मेरा रूह तो
दोस्ती मेरा ईमान है,

इश्क़ पे कर दूँ फ़िदा
अपनी सारी ज़िन्दगी,

मगर दोस्ती पे तो
मेरा इश्क़ भी कुर्बान है ।

Dosti Shayari

किस हद तक जाना…

किस हद तक जाना है ये कौन जानता है,
किस मंजिल को पाना है ये कौन जानता है ।

दोस्ती के दो पल जी भर के जी लो,
किस रोज़ बिछड जाना है ये कौन जानता है ।