Shayari SMS

Ishq Shayari

तुम को तो जान से…

तुम को तो जान से प्यारा बना लिया;
दिल का सुकून आँख का तारा का बना लिया;
अब तुम साथ दो या ना दो तुम्हारी मर्ज़ी;
हम ने तो तुम्हें ज़िन्दगी का सहारा बना लिया।

Ishq Shayari

खिड़की से झांकता हूँ मै…

खिड़की से झांकता हूँ मै,
सबसे नज़र बचा कर
बेचैन हो रहा हूँ,
क्यों घर की छत पे आ कर
क्या ढूँढता हूँ,
जाने क्या चीज खो गई है,
इन्सान हूँ,
शायद मोहब्बत हमको भी हो गई ।

Ishq Shayari

मुझसे पूछा किसी ने…

मुझसे पूछा किसी ने दिल का मतलब
मैने हँस कह दिया ठिकाना तेरा.
जब पूछा सुहानी शाम किसे कहते हैं,
मैने इतरा के कह दिया चाहना तेरा.
उसने पूछा कि बताओ ये क़यामत क्या है,
मैने घबरा के कह दिया रूठ जाना तेरा.
मौत कहते हैं किसे जब मुझसे पूछा,
मैंने आँखें झुका कर कहा छोड़ जाना तेरा।