Shayari SMS

Armaan Shayari

चलो आज खामोश प्यार को…

चलो आज खामोश प्यार को इक नाम दे दें,
अपनी मुहब्बत को इक प्यारा अंज़ाम दे दें,

इससे पहले कहीं रूठ न जाएँ मौसम अपने,
धड़कते हुए अरमानों एक सुरमई शाम दे दें ।

Armaan Shayari

मैं कुछ लम्हा और तेरा…

मैं कुछ लम्हा और तेरा साथ चाहता था,
आँखों में जो जम गयी वो बरसात चाहता था,
सुना हैं मुझे बहुत चाहती है वो मगर,
मैं उसकी जुबां से एक बार इज़हार चाहता था।

Armaan Shayari

दो अश्क मेरी याद में…

दो अश्क मेरी याद में बहा जाते तो क्या जाता,
चन्द कालियां लाश पे बिछा जाते तो क्या जाता ।

आये हो मेरी मय्यत पर सनम नक़ाब ओढ़ कर तुम,
अगर ये चांद का टुकडा दिखा जाते तो क्या जाता ।

Armaan Shayari

तकदीर लिखने वाले एक…

तकदीर लिखने वाले एक एहसान लिख दे,
मेरी मोहब्बत की तकदीर में मुस्कान लिख दे,

ना मिले जिंदगी में कभी भी दर्द उसको,
चाहे उसकी किस्मत में मेरी जान लिख दे ।