Shayari SMS

Zindgi Shayari

ज़िंदगी आज़माती रही…

खुशी में भी आँखें आँसू बहाती रही,
ज़रा सी बात देर तक रूलाती रही,

कोई खो के मिल गया तो कोई मिल के खो गया,
ज़िंदगी हम को बस ऐसे ही आज़माती रही।

Zindgi Shayari

ज़िंदगी का इम्तिहान…

शायद यही ज़िंदगी का इम्तिहान होता है,
हर एक शख्स किसी का गुलाम होता है,
कोई ढूढ़ता है ज़िंदगी भर मंज़िलों को,
कोई पाकर मंज़िलों को भी बेमुकाम होता है।

Zindgi Shayari

हँसकर बिता लें जिंदगी…

कल न हम होंगे न कोई गिला होगा,
सिर्फ सिमटी हुई यादों का सिललिसा होगा,
जो लम्हे हैं चलो हँसकर बिता लें,
जाने कल जिंदगी का क्या फैसला होगा।